Kaithal की पूरी जानकारी

Spread the love

इस लेख में आपको हरियाणा के Kaithal जिले की जानकारी मिलेगी| 

कैथल – Kaithal

 
 

कैथल जिला हरियाणा का एक प्रमुख नगर है। कैथल जिला बनने के पूर्व करनाल जिले की तहसील थी, जिसे
नवम्बर 1989 को जिला बनाया गया। कैथल जिले में नवग्रह कुंड के स्थित होने के कारण इसे छोटी काशी भी कहा जाता है।

इस जिले में सरस्वती ओर मारकण्डा नदी का प्रवाह है। यहां पीली मिट्टी पाई जाती है। गेंहूँ ओर धान यहां की प्रमुख फसलें है। यहां बासमती चावल प्रचुर मात्रा में पैदा की जाती है, जिसे विदेशों में निर्यात किया जाता है।

यहां से राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 65 गुजरती है, जो कुरुक्षेत्र से कैथल जिले में प्रवेश करती है तथा जींद जिले से होती हुई पंजाब की ओर जाती है। यहां पर फाउंड्री फैक्टरियों में लगने वाली मशीनों तथा उसके यन्त्र बनाये जाते है। साथ ही छोटे – छोटे कारखाने कार्यरत है।

कैथल का इतिहास – Kaithal History

Kaithal अतिप्राचीन नगर है। इसे वानरदेव हनुमान से भी सम्बन्धित माना जाता है। इस स्थान का संस्कृत में नाम कपिस्थल है जिसका अर्थ है – वानरों का आवास स्थल। ऐसा माना जाता है कि कैथल की स्थापना सम्राट युधिष्ठिर ने की थी।

कैथल पिन कोड – Kaithal Pin Code

कैथल जिले का पिन कोड 136027 है।

 

कैथल का तापमान ओर मौसम – kaithal temperature or weather

कैथल का मौसम लगभग सामान्य ही रहता है। Kaithal जिले का पूरे वर्ष में अधिकतम तापमान 40 डिग्री से 45 डिग्री सेल्सियस के बीच मे रहता है तथा न्यूनतम तापमान 18 से 23 डिग्री सेल्सियस तक रहता है।
 
 
Kaithal kab bna
Kaithal kab bna

 

प्रमुख मन्दिर ( temple in kaithal )

 
 
1) हनुमान मंदिर
2) प्राचीन ईंटो का मन्दिर
3) गीता भवन मन्दिर
4) अंजनी टीला मन्दिर
5) कुट्टी शिव मंदिर
6) देवजी का गुफा वाला मन्दिर
7) अम्बकेश्वर मन्दिर
8) ग्यारह रुद्री मन्दिर
9) शिव पार्वती मन्दिर
 

इसे भी पढ़ें : Faridabad district

प्रमुख मकबरे व मजार ( major mausoleum and tomb )

1) रजिया बेगम का मकबरा
2) बाबा शाह कलाम की मजार
3) बाबा नोबहर पीर की मजार
4) पीर चेतन शाह की मजार

 

प्रमुख गुरुद्वारे ( gurudwara )

1) गुरुनानक देव जी गुरुद्वारा
2) गुरु मांजी साहिब गुरुद्वारा
3) नीम शाही गुरुद्वारा

 

इसे भी पढ़ें :  Mahendergarh district haryana gk in hindi

 

प्रमुख जन्म स्थली ( principal place of birth )

1) वानरदेव हनुमान की जन्म स्थली कैथल को माना जाता है।
2) ममता शोधा जिन्होंने माउंट एवरेस्ट की चढ़ाई की थी कैथल से सम्बंधित है।
3) मधु शर्मा                  (गायिका)
4) लाला काका राम       ( स्वतंत्रता सेनानी )
5) मोहन सिंह मंदार       ( राजपूत शासक )
6) गुलाब सिंह सुरजकोर ( स्वतंत्रता सेनानी )
7) कपिल मुनि
8) पुरोधा कंवल

 

सरस्वती वन्य जीव अभयारण्य :-

सरस्वती वन्य जीव अभयारण्य कैथल जिले में अवस्थित है। 29 जुलाई 1988 को इसे सरस्वती वन्य जीव अभयारण्य के रूप में अधिसूचित किया गया। इसे सोनसर जंगल के नाम से भी जाना जाता है।

अन्य महत्वपूर्ण बिंदु ( other important point )

★ महर्षि वाल्मीकि संस्कृत विश्वविद्यालय ( मूंदड़ी ) कैथल जिले में स्थित है।
★ बाबा लदाना का सिद्धि प्राप्ति स्थल Kaithal है।
★ अंग्रेजों ने कैथल में सात चौकियां स्थापित की थी।
कैथल का विद्रोह 1843 में हुआ था।
★ कैथल में एक सैनिक विश्राम गृह भी बनाया गया है।
★ कोयल रिसोर्ट कैथल जिले में स्थित है इसकी स्थापना 1984 में की गई थी।
★ नवग्रह कुंड होने के कारण कैथल को छोटी काशी भी कहा जाता है।
★ कैथल जिले में टोपियों वाला गुरुद्वारा स्थित है जहां रामायण और गुरु ग्रन्थ साहिब एक साथ पढ़े जाते है।
★ फाउंड्री कारखाने में लगने वाली मशीनें कैथल जिले में बनाई जाती है।
 
 
 
 

 

Kaithal FAQ

Q.1. कैथल जिला कब बना?

हरियाणा का कैथल जिला नवम्बर 1989 को बनाया गया|

Q.2. कैथल को छोटी काशी किस कारण कहा जाता है?

कैथल जिले में नवग्रह कुंड होने के कारण इसे छोटी काशी कहा जाता है|

Q.3. प्राचीन ईंटो का मंदिर कहा पर है?

प्राचीन ईंटों का मंदिर कैथल जिले में है|

Q.4. रजिया बेगम का मकबरा किस जिले में है?

रजिया बेगम का मकबरा कैथल जिले में है|

Q.5. टोपियों वाला गुरुद्वारा किस जिले में है?

टोपियों वाला गुरुद्वारा कैथल है|


Spread the love

मेरा नाम Sandeep Karwasra है और में easyeducation22.com ब्लॉग का ऑनर हूँ। मेरी रुचि हिंदी भाषा में है।

1 thought on “Kaithal की पूरी जानकारी”

Leave a Comment

close